पारिवारिक लाभ योजना 2023-उद्देश्य,लाभ,आवेदन

ऐसे समाज में जहां परिवारों की भलाई सर्वोपरि है, उत्तर प्रदेश सरकार ने कमजोर परिवारों की वित्तीय सुरक्षा सुनिश्चित करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। परिवारिक लाभ योजना, जिसे राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना के रूप में भी जाना जाता है, की शुरुआत करते हुए, सरकार का उद्देश्य ज़रूरतमंद परिवारों को सहायता और राहत प्रदान करना है, विशेष रूप से उन परिवारों को जिन्होंने अपना प्राथमिक कमाऊ सदस्य खो दिया है। यह महत्वाकांक्षी सामाजिक कल्याण पहल गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों के उत्थान और उन्हें बेहतर भविष्य बनाने के लिए सशक्त बनाने की कोशिश करती है।

परिवारिक लाभ योजना उन चुनौतियों को स्वीकार करती है जिनका परिवारों को अपने प्राथमिक अर्जक के असामयिक निधन के बाद सामना करना पड़ता है। किसी प्रियजन की अचानक मृत्यु न केवल भावनात्मक उथल-पुथल लाती है बल्कि जीवित परिवार के सदस्यों पर अत्यधिक वित्तीय बोझ भी डालती है। इस दुर्दशा को स्वीकार करते हुए, सरकार ने इस कठिन समय के दौरान एक महत्वपूर्ण जीवन रेखा प्रदान करते हुए एकमुश्त मुआवजे की पेशकश करने के लिए योजना तैयार की है।

पारिवारिक लाभ योजना के पात्र होने के लिए, कुछ मानदंडों को पूरा करना होगा। आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए, और परिवार के मृत मुखिया की आयु 18 से 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए। इसके अलावा, परिवार की वार्षिक आय एक निर्दिष्ट सीमा से अधिक नहीं होनी चाहिए, जो रुपये है। शहरी क्षेत्रों में 56,000 और रु। ग्रामीण क्षेत्रों में 46,000। गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों को लक्षित करके, योजना यह सुनिश्चित करती है कि सहायता उन लोगों तक पहुंचे जिन्हें इसकी सबसे अधिक आवश्यकता है।

Uttar Pradesh Parivarik Labh Yojana 2023

योजना का नाम राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ
संबधित राज्य उत्तर प्रदेश
संबधित विभाग समाज कल्याण विभाग यूपी
टोल फ्री / हेल्पलाइन नंबर 18004190001
आधिकारिक वेबसाइट nfbs.upsdc.gov.in

पारिवारिक लाभ योजना क्या है?

पारिवारिक लाभ योजना, जिसे राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना के रूप में भी जाना जाता है, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई एक सामाजिक कल्याण पहल है। इस योजना का उद्देश्य जरूरतमंद परिवारों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है, विशेष रूप से गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले, जिन्होंने अपना प्राथमिक कमाने वाला खो दिया है। एकमुश्त मुआवजे की पेशकश करके, इस योजना का उद्देश्य कठिन समय के दौरान परिवारों के सामने आने वाले वित्तीय बोझ को कम करना है।

पारिवारिक लाभ योजना पात्रता

पारिवारिक लाभ योजना का लाभ उठाने के लिए, कुछ पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा:

आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
परिवार के मुखिया की मृत्यु 18 से 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
शहरी क्षेत्रों में परिवार की वार्षिक आय रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए। 56,000, और ग्रामीण क्षेत्रों में, यह रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए। 46,000।
परिवार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहा हो।
पारिवारिक लाभ योजना के लाभ

यह योजना पात्र परिवारों को कई लाभ प्रदान करती है:

रुपये की वित्तीय सहायता।

30,000 गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों को प्रदान किया जाता है जिन्होंने अपनी प्राथमिक कमाई खो दी है।

इस योजना का उद्देश्य परिवार के मुखिया की मृत्यु के बाद परिवारों के सामने आने वाले वित्तीय संकट को कम करना है, जिससे वे अपनी आजीविका को बनाए रखने में सक्षम हो सकें।

उत्तर प्रदेश में ग्रामीण और शहरी दोनों गरीब परिवार योजना से लाभान्वित हो सकते हैं।

बैंक खाता होने के महत्व पर जोर देते हुए मुआवजे की राशि सीधे आवेदक के बैंक खाते में स्थानांतरित कर दी जाती है।

पारिवारिक लाभ योजना के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

पारिवारिक लाभ योजना के लिए आवेदन करते समय, निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होती है:

आवेदक का आधार कार्ड
पहचान पत्र
निवास प्रमाण पत्र
परिवार के मृत मुखिया का मृत्यु प्रमाण पत्र
आय प्रमाण पत्र
बैंक खाता पासबुक
मोबाइल नंबर
परिवार के मुखिया का आयु प्रमाण पत्र
पासपोर्ट के आकार की तस्वीर

परिवारिक लाभ योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

पारिवारिक लाभ योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है:

उत्तर प्रदेश के समाज कल्याण विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

परिवारिक लाभ योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें
परिवारिक लाभ योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

होम पेज पर “नया पंजीकरण” विकल्प खोजें और उस पर क्लिक करें।

पंजीकरण फॉर्म में जिला, निवासी विवरण, बैंक खाते की जानकारी और मृतक के विवरण सहित सभी आवश्यक जानकारी भरें।

परिवारिक लाभ योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें
परिवारिक लाभ योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

फॉर्म पूरा करने के बाद, अपने आवेदन को सफलतापूर्वक पंजीकृत करने के लिए सबमिट बटन पर क्लिक करें।
पारिवारिक लाभ योजना के उद्देश्य

पारिवारिक लाभ योजना के प्राथमिक उद्देश्य हैं:

उन परिवारों को वित्तीय सहायता प्रदान करना, जिन्होंने अपना प्राथमिक अर्जक खो दिया है, जिससे वे अपनी दैनिक जरूरतों को पूरा कर सकें और अपनी आजीविका को बनाए रख सकें।
परिवार के मुखिया की मृत्यु के बाद परिवारों के सामने आने वाले आर्थिक बोझ और कठिनाइयों को दूर करने के लिए।
गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों को सशक्त बनाना और वित्तीय सहायता के माध्यम से उन्हें बेहतर जीवन जीने में मदद करना।
पारिवारिक लाभ योजना के लिए शासनादेश डाउनलोड करने की प्रक्रिया

पारिवारिक लाभ योजना के लिए mandate डाउनलोड करने के लिए, इन चरणों का पालन करें:

उत्तर प्रदेश के समाज कल्याण विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
खोजें और “मैंडेट” विकल्प पर क्लिक करें।

मैंडेट वाली एक पीडीएफ फाइल खुलेगी।

Process to download mandate
Process to download mandate

डाउनलोड विकल्प पर क्लिक करके शासनादेश डाउनलोड करें।
यूपी राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना के जिलेवार लाभार्थियों का विवरण देखने की प्रक्रिया

उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना के तहत लाभार्थियों का विवरण जिलावार देखने के लिए, इन चरणों का पालन करें:

उत्तर प्रदेश के समाज कल्याण विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
होम पेज पर “लाभार्थियों का जिलावार विवरण” लिंक देखें।
लिंक पर क्लिक करें और अपने जिले का चयन करें।
संबंधित तहसील (उप-जिला) का चयन करें और फिर अपना ब्लॉक चुनें।
अंत में, अपनी पंचायत का चयन करें।
लाभार्थियों का जिलेवार विवरण प्रदर्शित किया जाएगा।
राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना आवेदन की स्थिति कैसे जांचें?

अपने राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना आवेदन की स्थिति की जांच करने के लिए, इन चरणों का पालन करें:

उत्तर प्रदेश के समाज कल्याण विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
होम पेज पर “एप्लीकेशन फॉर्म स्टेटस” विकल्प पर क्लिक करें।

 

How to see the status of Rashtriya Parivarik Labh Yojana application?
How to see the status of Rashtriya Parivarik Labh Yojana application?

जिला, खाता संख्या और पंजीकरण संख्या सहित आवश्यक जानकारी दर्ज करें।
अपने आवेदन की स्थिति की जांच करने के लिए सर्च बटन पर क्लिक करें।

पारिवारिक लाभ योजना उत्तर प्रदेश सरकार की एक सराहनीय पहल है जिसका उद्देश्य जरूरतमंद परिवारों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है। प्राथमिक अर्जक की मृत्यु के बाद परिवारों के सामने आने वाली वित्तीय चुनौतियों का समाधान करके, यह योजना उन्हें अपनी आजीविका बनाए रखने और उनकी बुनियादी जरूरतों को पूरा करने में मदद करती है। एक सुव्यवस्थित ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया के माध्यम से, योजना पात्र आवेदकों के लिए पहुंच और उपयोग में आसानी सुनिश्चित करती है। आवेदनों की स्थिति के बारे में विस्तृत जानकारी और पारदर्शिता की उपलब्धता योजना की प्रभावशीलता को और बढ़ाती है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

Q1: पारिवारिक लाभ योजना के लिए कौन पात्र है? A: उत्तर प्रदेश में गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवार, जहां परिवार के मुखिया का निधन हो गया है और 18 से 60 वर्ष की आयु सीमा के भीतर आते हैं, परिवारिक लाभ योजना के लिए पात्र हैं।

Q2: योजना के तहत कितनी वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है? ए: यह योजना रुपये का एकमुश्त मुआवजा प्रदान करती है। पात्र परिवारों को 30,000।

Q3: क्या शहरी और ग्रामीण दोनों परिवार योजना का लाभ उठा सकते हैं? A: हां, उत्तर प्रदेश में शहरी और ग्रामीण दोनों गरीब परिवार परिवारिक लाभ योजना से लाभान्वित हो सकते हैं।

Q4: क्या सहायता प्राप्त करने के लिए बैंक खाता होना अनिवार्य है? उ: हां, बैंक खाता होना आवश्यक है क्योंकि मुआवजे की राशि सीधे आवेदक के बैंक खाते में स्थानांतरित की जाती है।

Q5: आवेदन के बाद सहायता प्राप्त करने में कितना समय लगता है? उत्तर: सरकार का लक्ष्य आवेदन की तारीख से 45 दिनों के भीतर सहायता प्रदान करना है।

ये अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न परिवारिक लाभ योजना के बारे में कुछ सामान्य प्रश्नों को संबोधित करते हैं, जो योजना के बारे में जानकारी मांगने वालों को स्पष्टता प्रदान करते हैं।

पारिवारिक लाभ हेल्पलाइन / टोल फ्री नंबर

इस योजना से जुडी अधिक जानकारी के लिए आप पोर्टल पर विभग द्वारा दिए गए टोल फ्री / हेल्पलाइन नम्बरों पर संपर्क कर सकते है। कॉन्टेक्ट डिटेल्स निम्न है –

हेल्पलाइन नंबर / टोल फ्री नंबर 18004190001
ईमेल आईडी director.swd@dirsamajkalyan.in

Important Readings:

Leave a Comment