मुख्‍यमंत्री कल्याणी विवाह सहायता योजना – फ़ायदे

मुख्‍यमंत्री कल्याणी विवाह सहायता योजना  – मुख्यमंत्री कल्याणी विवाह सहायता योजना, सामाजिक न्याय एवं दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग द्वारा प्रदेश में निवासरत कल्याणी को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने और जीवन निर्वाह हेतु आर्थिक सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से 2018-05-03 से प्रारंभ की गई है।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य है कि उन कल्याणी को आर्थिक सहायता प्रदान की जाए जिनके विवाह की न्यूनतम आयु 18 वर्ष या उससे अधिक हो और जिनके पति की आयु 21 वर्ष या उससे अधिक हो।

Details Of Mukhyamantri Kalyani Vivah Sahayata Yojana 2023

योजना का नाम मुख्यमंत्री कल्याणी विवाह योजना
किसने आरंभ की मध्य प्रदेश सरकार
लाभार्थी मध्य प्रदेश की बेटियां
उद्देश्य बेटियों के विवाह पर आर्थिक सहायता प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइट यहां क्लिक करें
साल 2023
आवेदन का प्रकार ऑनलाइन/ऑफलाइन
राज्य मध्य प्रदेश

कल्याणी विवाह सहायता योजना योग्यता मापदंड लाभार्थियों के लिए:

  1. कल्याणी और उसके पति का मध्यप्रदेश के निवासी होना चाहिए।
  2. कल्याणी की विवाह के समय न्यूनतम आयु 18 वर्ष और उसके पति की न्यूनतम आयु 21 वर्ष होनी चाहिए।
  3. कल्याणी को आयकरदाता नहीं होना चाहिए।
  4. कल्याणी सरकारी कर्मचारी/अधिकारी नहीं होनी चाहिए (इसमें राज्य या केंद्र सरकार, सरकारी सहायिता प्राप्त कंपनियों, उपक्रमों और संस्थानों के तहत कार्यरत कर्मचारी/अधिकारी शामिल होते हैं)।
  5. कल्याणी को परिवार पेंशन प्राप्त नहीं होना चाहिए।

अन्य शर्तें:

  1. इस योजना के तहत बी.पी.एल. (गरीबी रेखा से नीचे) का कोई बंधन नहीं होगा।
  2. कल्याणी जिस व्यक्ति से विवाह कर रही है, उसकी कोई जीवित पत्नी न होनी चाहिए।
  3. यदि कल्याणी स्वयं विकलांग है, तो कल्याणी के पति विकलांग हैं, या दोनों पति-पत्नी विकलांग हैं, तो उन्हें केवल कल्याणी विवाह सहायता योजना का लाभ मिलेगा।
  4. कल्याणी विवाह योजना में समूह विवाह करवाने का कोई बंधन नहीं है। एकल विवाह भी मान्य हैं।
    1. यदि कल्याणी के छोटे बच्चे हैं, तो कल्याणी और उसके पति दोनों बच्चों के पालन-पोषण के लिए संयुक्त रूप से जिम्मेदार होंगे।
    2. मुख्यमंत्री कल्याणी विवाह सहायता योजना के लाभ को विवाह की तिथि से एक वर्ष के भीतर ही आवेदन करना होगा, एक वर्ष से बाद मिले आवेदन मान्य नहीं होंगे।अगर कल्याणी मुख्यमंत्री कल्याणी विवाह सहायता योजना का लाभ उठाती है, तो उसे विभाग द्वारा संचालित अन्य विवाह योजनाओं जैसे मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजना और विकलांग जन विवाह प्रोत्साहन योजना के लाभ से वंचित रहेगी। 9. अगर कल्याणी का विवाह मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजना के समूह विवाह में संपन्न होता है, तो उस स्थिति में केवल कल्याणी विवाह योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।

मुख्यमंत्री कल्याणी विवाह योजना का उद्देश्य

इस योजना का प्राथमिक लक्ष्य राज्य में बेटियों को उनकी शादी के दौरान वित्तीय सहायता प्रदान करना है। सरकार इस पहल के माध्यम से ₹200,000 की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। मुख्यमंत्री कल्याणी विवाह योजना को लागू करके, राज्य का लक्ष्य अपने नागरिकों के जीवन स्तर को बढ़ाना और आत्मनिर्भरता को बढ़ावा देना है। बेटियों के परिवारों को अब उनकी शादी के लिए कर्ज लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी क्योंकि मध्यप्रदेश सरकार डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर के माध्यम से सीधे बेटी के खाते में आर्थिक सहायता देगी. यह योजना नागरिकों को सशक्त बनाती है और राज्य की बेटियों के लिए अधिक सुरक्षित भविष्य सुनिश्चित करती है।

Read here

महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु का प्रमाण
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी
  • राशन कार्ड आदि

आधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें

Read more:::

Leave a Comment

Exit mobile version