सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना-उद्देश्य,लाभ,आवेदन

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना(Savitribai Phule Kishori Samriddhi Yojana 2023)शिक्षा किसी भी राष्ट्र के सामाजिक और आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। महिलाओं को सशक्त बनाने और बेहतर भविष्य बनाने में शिक्षा के महत्व को स्वीकार करते हुए, भारत सरकार ने महिलाओं की सामाजिक और आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के उद्देश्य से कई योजनाएं शुरू की हैं। ऐसी ही एक उल्लेखनीय योजना सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना है, जो झारखंड में लड़कियों को अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करने पर केंद्रित है। इस लेख में, हम सावित्रीबाई फुले योजना के प्रमुख पहलुओं का पता लगाएंगे, जिसमें इसकी पात्रता मानदंड, लाभ, आवश्यक दस्तावेज, ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया, उद्देश्य शामिल हैं और अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों के साथ निष्कर्ष निकाला जाएगा।

Scheme Name Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana / Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana
state name Jharkhand
Relevant departments Department of Women, Child Development and Social Security
Year 2023
purpose of the plan Encouraging the girls of the state for education
Benefit Financial assistance will be provided for education from class 8th to class 12th.
profit amount Total 40 thousand rupees, which will be given in 6 different installments.
Beneficiary Girls coming from Antyodaya family in SECC-11 of the state
application mode offline mode
application Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana Application Form PDF

 

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना क्या है?

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना झारखंड सरकार द्वारा शिक्षा के माध्यम से आर्थिक रूप से वंचित परिवारों की लड़कियों को सशक्त बनाने के उद्देश्य से शुरू की गई एक योजना है। सावित्रीबाई फुले, एक प्रमुख समाज सुधारक और महिला अधिकार कार्यकर्ता के नाम पर, यह योजना कक्षा 8 से 12 में पढ़ने वाली किशोरियों को वित्तीय सहायता प्रदान करती है। यह योजना शिक्षा के अधिकार (आरटीई) अधिनियम के तहत मान्यता प्राप्त सरकारी और निजी दोनों स्कूलों को कवर करती है। वित्तीय सहायता की पेशकश करके, इस पहल का उद्देश्य परिवारों पर बोझ को कम करना और यह सुनिश्चित करना है कि लड़कियों को अपनी शिक्षा पूरी करने का अवसर मिले।

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना पात्रता

सावित्रीबाई फुले योजना के लिए पात्र होने के लिए, कुछ मानदंडों को पूरा करना होगा:

क) झारखंड का स्थायी निवासी: आवेदक झारखंड राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।

ख) लाभार्थियों की संख्या की सीमा: प्रति परिवार केवल दो बेटियां ही इस योजना का लाभ उठा सकती हैं।

ग) स्कूल नामांकन: बालिका को सरकारी या सरकारी सहायता प्राप्त मान्यता प्राप्त स्कूल में नामांकित होना चाहिए।

घ) SECC-2011 जनगणना: 2011 की सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना (SECC) सूची में बालिका का नाम दिखाई देना चाहिए।

ई) अंत्योदय राशन कार्ड धारक: बालिका को अंत्योदय राशन कार्ड रखने वाले परिवार से संबंधित होना चाहिए।

च) विवाह पात्रता: यदि लाभार्थी लड़की की शादी 18 वर्ष की आयु से पहले हो जाती है, तो वह शेष लाभ राशि के लिए पात्र नहीं होगी।

छ) बैंक खाता और आधार लिंकेज: आवेदक के पास उसके नाम पर एक बैंक खाता होना चाहिए, जो उसके आधार कार्ड से जुड़ा हो।

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के लाभ

सावित्रीबाई फुले योजना के तहत, पात्र किशोरियों को उनकी शिक्षा का समर्थन करने के लिए वित्तीय सहायता प्राप्त होती है। लाभ विभिन्न किश्तों के रूप में प्रदान किए जाते हैं:

पहली किस्त: 2,500 रुपये की पहली किस्त तब प्रदान की जाती है जब लड़की 8 वीं कक्षा में होती है।

दूसरी किस्त : 9वीं कक्षा में 2500 रुपये की दूसरी किस्त दी जाती है।

तीसरी किस्त: जब बालिका 10वीं कक्षा में पहुंचती है, तो 5,000 रुपये की तीसरी किस्त प्रदान की जाती है।

चौथी किस्त : 11वीं कक्षा में 5 हजार रुपये की चौथी किस्त का वितरण किया जाता है।

पांचवीं किस्त: 5,000 रुपये की पांचवीं किस्त 12वीं कक्षा के दौरान दी जाती है।

छठी किस्त: 18 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर, 20,000 रुपये की अंतिम किस्त एकमुश्त राशि के रूप में प्रदान की जाती है।

इन किश्तों का उद्देश्य परिवारों पर वित्तीय बोझ को कम करना और लड़कियों को अपनी शिक्षा पूरी करने के लिए प्रोत्साहित करना है।

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

सावित्रीबाई फुले योजना के लिए आवेदन करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होती है:

आवेदक का आधार कार्ड

अनाथ प्रमाणपत्र (यदि लागू हो)

बालिका की शिक्षा की पुष्टि करने वाले स्कूल से सत्यापन प्रमाण पत्र

स्कूल जाने का प्रमाण पत्र (पंजीकरण / प्रवेश प्रमाण पत्र)

स्थायी निवास प्रमाण पत्र

राशन कार्ड (अंत्योदय कार्ड)

पारिवारिक वार्षिक आय प्रमाण पत्र

आवेदक का पासपोर्ट साइज फोटो

SECC-2011 के तहत निगमन का प्रमाण पत्र

आवेदक के नाम पर बैंक खाता विवरण

आवेदकों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि योजना के लिए आवेदन करने से पहले उनके पास सभी आवश्यक दस्तावेज तैयार हों।

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

सावित्रीबाई फुले योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए इन चरणों का पालन करें:

a) योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

Official Website chatra.nic.in

बी) सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना आवेदन पत्र डाउनलोड करें।

c) फॉर्म में सभी आवश्यक जानकारी भरें।

घ) आवेदन पत्र में उल्लिखित सभी आवश्यक दस्तावेज संलग्न करें।

ई) सुनिश्चित करें कि प्रदान की गई जानकारी सटीक और पूर्ण है।

च) आवेदन पत्र को नामित कार्यालय, जैसे खंड विकास अधिकारी या जिला समाज कल्याण अधिकारी को जमा करें। वैकल्पिक रूप से, आवेदक अपने संबंधित स्कूलों में फॉर्म जमा कर सकते हैं।

इन चरणों का पालन करके पात्र लड़कियां सावित्रीबाई फुले योजना के लिए आसानी से आवेदन कर सकती हैं।

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के उद्देश्य

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का प्राथमिक उद्देश्य झारखंड में आर्थिक रूप से वंचित लड़कियों की शिक्षा को प्रोत्साहित करना है। वित्तीय सहायता प्रदान करके, इस योजना का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि लड़कियों की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा तक पहुंच हो और वे अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करें। इसके अतिरिक्त, उनकी शिक्षा पूरी करने के बाद प्राप्त एकमुश्त राशि का उपयोग उनकी शादी या उच्च शिक्षा के लिए किया जा सकता है, जिससे उनके परिवारों पर वित्तीय बोझ कम हो जाएगा। यह योजना विशेष रूप से लड़कियों को लाभान्वित करती है, जो अध्ययन करने की इच्छा के बावजूद, वित्तीय बाधाओं का सामना करती हैं और स्कूल छोड़ने का जोखिम उठाती हैं। इन चुनौतियों का समाधान करके, सावित्रीबाई फुले योजना लड़कियों को सशक्त बनाती है और उनके भविष्य को सुरक्षित करती है।

 

Conclusion-

सावित्रीबाई फुले योजना झारखंड सरकार द्वारा आर्थिक रूप से वंचित पृष्ठभूमि की लड़कियों के बीच शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए एक सराहनीय पहल के रूप में है। वित्तीय सहायता और सहायता प्रदान करके, यह योजना सुनिश्चित करती है कि लड़कियों को अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करने का अवसर मिले, जिससे उनके उज्जवल भविष्य के द्वार खुल सकें। इस योजना के माध्यम से, सरकार महिलाओं को सशक्त बनाने और उन्हें राष्ट्र के सामाजिक-आर्थिक विकास में योगदान करने में सक्षम बनाने में शिक्षा की महत्वपूर्ण भूमिका को स्वीकार करती है।

लड़कियों के लिए शैक्षिक पहुंच के पेचीदा मुद्दे पर ध्यान केंद्रित करके और उनकी स्कूली शिक्षा के विभिन्न चरणों में वित्तीय सहायता प्रदान करके, सावित्रीबाई फुले योजना सकारात्मक बदलाव के लिए एक उत्प्रेरक के रूप में कार्य करती है। यह न केवल परिवारों पर वित्तीय बोझ को कम करता है बल्कि शिक्षित और सशक्त महिलाओं की एक पीढ़ी का पोषण भी करता है जो एक अधिक समावेशी और प्रगतिशील समाज को आकार देगी।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न – सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना

क) सावित्रीबाई फुले योजना क्या है?

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना झारखंड सरकार द्वारा राज्य में लड़कियों की शिक्षा को प्रोत्साहित करने के लिए शुरू की गई एक सरकारी योजना है। यह कक्षा 8 से 12 तक पढ़ने वाली लड़कियों को वित्तीय सहायता प्रदान करता है।

b) सावित्रीबाई फुले योजना से कौन लाभान्वित हो सकता है?

झारखंड की स्कूल जाने वाली लड़कियां इस योजना से लाभान्वित होने की पात्र हैं।

ग) सावित्रीबाई फुले योजना के उद्देश्य क्या हैं?

इस योजना का प्राथमिक उद्देश्य लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देना, परिवारों पर वित्तीय बोझ को कम करना और आर्थिक रूप से वंचित लड़कियों को सशक्त बनाना है।

घ) मैं सावित्रीबाई फुले योजना के लिए कैसे आवेदन कर सकता हूं?

योजना के लिए आवेदन करने के लिए, आप आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं, आवेदन पत्र डाउनलोड कर सकते हैं, आवश्यक विवरण भर सकते हैं, आवश्यक दस्तावेज संलग्न कर सकते हैं और फॉर्म को नामित कार्यालय या स्कूल में जमा कर सकते हैं।

ई) सावित्रीबाई फुले योजना के क्या लाभ हैं?

योजना के तहत, पात्र लड़कियों को उनकी शिक्षा पूरी करने के बाद एकमुश्त राशि के साथ-साथ उनकी स्कूली शिक्षा के विभिन्न चरणों में वित्तीय सहायता प्राप्त होती है।

च) क्या कोई लड़की 18 वर्ष की आयु से पहले शादी करने पर लाभ प्राप्त कर सकती है?

नहीं, यदि लाभार्थी लड़की की शादी 18 वर्ष की आयु से पहले हो जाती है, तो वह शेष लाभ राशि के लिए पात्र नहीं होगी।

छ) क्या सावित्रीबाई फुले योजना केवल सरकारी स्कूलों पर लागू है?

नहीं, यह योजना शिक्षा के अधिकार (आरटीई) अधिनियम के तहत मान्यता प्राप्त सरकारी और निजी दोनों स्कूलों को कवर करती है।

ज) सावित्रीबाई फुले योजना महिला सशक्तिकरण में कैसे योगदान करती है?

शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करके, यह योजना लड़कियों को उनके सपनों का पीछा करने, ज्ञान और कौशल हासिल करने और समाज में सक्रिय रूप से भाग लेने के लिए सशक्त बनाती है, अंततः महिला सशक्तिकरण में योगदान देती है।

अंत में, सावित्रीबाई फुले योजना एक परिवर्तनकारी योजना है जो लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देती है, वित्तीय बाधाओं को दूर करती है और उज्जवल भविष्य का मार्ग प्रशस्त करती है। यह लड़कियों को सशक्त बनाने और उनके समग्र विकास को सुनिश्चित करने के लिए सरकार की प्रतिबद्धता के लिए एक वसीयतनामा के रूप में कार्य करता है। इस योजना के कार्यान्वयन के माध्यम से, झारखंड एक अधिक समतामूलक और समावेशी समाज बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाता है, जहां हर लड़की को फलने-फूलने और देश की प्रगति में योगदान करने का अवसर मिलता है।

Important Readings:

Leave a Comment