Sukanya Samriddhi Yojana 2023: सभी बेटियों को मिलेगा 44 लाख रूपए,

भारत सरकार की एक बचत योजना है। बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ योजना केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई एक योजना है। सुकन्या समृद्धि योजना का उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों में जन्म लेने वाली लड़कियों को भविष्य में आर्थिक संकट का सामना करने से रोकना है।

सुकन्या एक लघु बचत योजना है, जो लंबे समय से चलाई जा रही है। सुकन्या योजना में माता-पिता अपनी बेटियों के नाम पर निवेश करते हैं।

इस योजना के तहत माता-पिता या अभिभावक बालिका के नाम पर खाता खुलवा सकते हैं, ताकि उसकी शादी या उच्च शिक्षा के लिए आर्थिक मदद मिल सके। सुकन्या समृद्धि योजना में खोले गए खाते में कम से कम 15 साल का निवेश जरूरी है।

– अगर परिवार में कोई लड़की है और उसके बाद जुड़वाँ बच्चे पैदा होते हैं या एक से अधिक बालिकाएँ पैदा होती हैं, तो वे भी योजना का लाभ उठा सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत निवेशक अपनी आर्थिक स्थिति के अनुसार निवेश कर सकता है। इसमें एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम 250 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये निवेश किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत 10 साल से कम उम्र की बच्चियों के नाम पर माता-पिता या परिवार का कोई भी सदस्य खाता खुलवा सकता है। इस स्कीम में 15 साल के लिए निवेश करना जरूरी है। और इसका मैच्योरिटी पीरियड 21 साल है।